बादलों के बच्चे

दूर तक फैले नीले आकाश में खेलते
छोटे छोटे बादलों के बच्चे,
पतझड़ के पेड़
नये कपड़ों के इंतज़ार मे ।
कब खेलना बंद कर बड़े होंगे ये बादल,
मौसम कब बदलेगा
पल्लवित होंगी कब हमारी नंगी सूखी डालियाँ ।

Published by

Vrikshamandir

A novice blogger who likes to read and write and share