कोरोना टाइम्स अंक ४

कल कोरोना टाइम्स ३ में चर्चा हुई थी कि कैसे पाकिस्तानी मिडिया में मौलाना तारिक जमाल ने पहले मिडिया की खटिया खड़ी करी फिर सीधी कर खटिया के नीचे छुप कर माफ़ी माँग ली।

ख़ैर जो हुआ सो हुआ ।

आज बारी है कोरोना टाइम्स में जंबू द्वीप के भारत खंड ( संक्षिप्त में इंडिया या हिंदी में भारत या भारतवर्ष ) की मिडिया पर बात करने की।

हुआ यूँ कि दस या ग्यारह अप्रैल को “जंबू द्वीप के भारत खंड आज” न समझने पाने वालों के लिये “इंडिया टुडे” ने यह खबर छापी कि व्हाइट हाउस के ट्विटर हैंडल @whitehouse द्वारा मोदी जी और भारत को फालों करना एक अप्रतिम घटना है।

आगे लिखा गया कि अमरीका का ट्विटर हैंडल @whitehouse दुनिया भर मे दो करोड़ पंद्रह लाख लोग फालों करते हैं । हालाँकि @whitehouse सिर्फ़ १९ हैंडल्स को फालों करता है। ११ अप्रैल को बनाव यह बना, किसी को पता नहीं क्यों और कैसे बना, पर बना ज़रूर कि उन उन्नीस में से तीन अमेरिका के बाहर वालों के हैंडल हैं। कौन है वह तीन ?

समाचारानुसार भारत ही ग्यारह अप्रैल २०२० को यकायक एक मात्र ऐसा देश बन गया है जिसके एक नहीं तीन प्रधान मंत्री (प्रधान सेवक, वडाप्रधान, मोदी जी – जो भी समझें और मानें) राष्ट्रपति और भारत के अमरीका स्थित दूतावास और ही व्हाइट हाउस द्वारा उन्नीस फालोवितो ( फ़ॉलोवर्स) में से हैं । ऐसा होना अति महत्वपूर्ण है क्यों कि ऐसा होने से भारत -अमरीका संबंध एकाएक अलग पायदान पर खड़े हो गये हैं जिससे यह भी पता चलता है कि अमरीका भारत को विश्व को अन्य देशो की तुलना में एक अति विशिष्ट श्रेणी का मानता है।

चलिये बड़ी अच्छी बात है । कौन भारतवासी नहीं चाहेगा कि भारत देश एक अति विशिष्ट देश न माना जाये। और वह भी अमरीका द्वारा ? क्या बात है, है न ?

HIGHLIGHTS

  • PM Modi only world leader followed by White House
  • U.S. Prez’s official residence follows other Indian accounts
  • Follows only 19 Twitter handles, including top U.S. officials

Prime Minister Narendra Modi is the only world leader followed by the official Twitter account of the White House (@whitehouse), the official residence of the U.S. President and the seat of the federal government.

In fact, all non-U.S. accounts followed by the White House are Indian: they include the President of India (@rashtrapatibhvn), the Prime Minister’s Office (@PMO) and the Indian embassy in Washington D.C. (@IndianEmbassyUS).

https://www.google.co.in/amp/s/www.indiatoday.in/amp/world/story/pm-narendra-modi-white-house-twitter-1665860-2020-04-11

पर नौ दिन बाद देखते हैं क्या हुआ

वही हुआ जो शायद आप में से कुछ लोग तो सोच ही रहे थे । जी हाँ २० अप्रैल को ढांसू, खबर छप गई कि बेरहम अमरीका ने अपने @whitehouse ट्विटर हैंडल से वह तीन हैंडल जो सिर्फ़ नौ दिन पहले जोडे थे उन हैंडलों को अफालोवित ( अनफालो) कर दिया !

HIGHLIGHTS

  • White House followed PM Modi and President Kovind on April 10
  • This was after India partially lifted the ban on export of HCQ to the US
  • White House has now unfollowed them, along with PMO and Indian embassy in the US

https://www.indiatoday.in/india/story/white-house-donald-trump-unfollows-narendra-modi-twitter-pmo-president-ram-nath-kovind-1672344-2020-04-29

आप में से कुछ ही ने या हो सकता है यह अनुमान पहले ही लगा लिया हो, कि कोरोना टाइम्स ने ऊपर की बतफरोसी और बकबक पर आख़िर क्यों इतनी पंक्तियाँ लिंख मारीं !

नहीं श्रीमान हमारी कार्यालय सचिव चमेली जी की खोजी इंटरनेटी पत्रकारिता ने फालों और अनफालो होने के कारणों का आख़िर पता कर ही लिया । गल्फ़ न्यूज़ तक जाना पड़ा इंटरनेट पर सवार हो कर चमेली जी को। नीचे सोर्स के साथ पूरा प्रकरण समझा दिया गया है ।

https://gulfnews.com/photos/news/how-india-is-preparing-to-welcome-trump-1.1582462887743

“The White House Twitter account normally follows senior US government Twitter accounts, and others as appropriate. For example, during the time of a presidential visit, the account typically follows for a short time, the host country’s officials to retweet their messages in support of the visit,” a senior administration official told PTI on the condition of anonymity.

The official was responding to a question on the reasons for the White House ‘following’ and then ‘unfollowing’ the Twitter handles of President Kovind, Prime Minister Modi, the PMO and the other Indian officials.

The White House ‘unfollowing’ the Twitter accounts of President Kovind and PM Modi drew reactions on social media in India.

Senior Congress leader Rahul Gandhi said he was “dismayed” at the development.

“I’m dismayed by the “unfollowing” of our President & PM by the White House. I urge the Ministry of External Affairs to take note,” he said in a tweet on Wednesday.

राहुल जी ने जैसा उपरोक्त समाचारों में कहा गया है ट्विटर पर अपनी नाख़ुशी ज़ाहिर कर विदेश मंत्रालय को हिदायत दे दी कि वह व्हाइट हाउस द्वारा अपने ट्विटर हैंडल पर भारत के प्रधान मंत्री और अन्य हैंडलों को जोड़ने घटाने की आदत से हुई दुर्घटना का, जिससे भारत की मर्यादा को क्षति पहुंची है अपनी डायरी में नोट कर ले ।

अंदरूनी सूत्रों से पता चल रहा है कि विदेश मंत्रालय में सन २०२४ और सन २०२९ नाम की दो नई फ़ाइलें खुली है जिसमें राहुल जी का मंतव्य दर्ज करा दिया गया है। वैसे यह खबर एक दम पक्की नहीं है पर थोड़ी थोड़ी पक्की लग रही है । फिर भी आप सब की जानकारी और हमारी खबरों को पुख़्ता बनाने के लिये यह सब लिख दिया जा रहा है।

खबरें कैसे बनती है कब बनती है , उन बनी खबरों में किस प्रकार की छौंक लगे इसका निर्णय तो संदर्भ और घटना के महत्व के अलावा मार्केट, संवाद के माध्यम (प्रिंट यानि छपा, रेडियो, टीवी, सोशल मीडिया आदि), माध्यम के मालिकों और उनकी राजनैतिक सोच पर बहुत कुछ हद चीजों पर निर्भर करता है।

हमारे यहाँ सब सिंपल है यानि कोई कांप्लेक्सिटी है ही नहीं। हम जो लिखते हैं उसे बहुतायत में लोग शुद्ध बकवास कहते हैं ।

कोरोना टाइम्स का पिछला अंक उँगली करें/ क्लिक करें

Published by

Vrikshamandir

A novice blogger who likes to read and write and share